Pakistani Urdu Shayari Top Shayari Urdu Sher Top Shayari Pakistan

Pakistani Urdu Shayari Top Shayari

dil na-ummed to nahi nakaam hi to hai, lambhi h ghum ki sham magar sham hi to hai. 

Ajeeb dastoor hai mohabbat ka, rooth koi jata hai, tut koi jata h.~ Piyush Mishra 

Umr bhar uthaya bojh us ‘keel’ ne.. aur log tareef ‘tasveer’ ki karte rahe. ~

Kuch iss qadr dakhil hua mere zehen main wo, ki sasoon main aaj tak ussi ki mehak hai

Ek tarz-e-taghaful hai. so wo unko mubarak , Ek tarz-e-tamanna hai. so hum karte rahenge.

Seene me jo dab gaye hai, wo jazbaat kya kahein, ab khud hi samjh lijiye, har baat kya kahein. 

Zindag se kuch zyada nai, bas itni si farmaish hai, ab tasveer se nahi, tafseel se milne ki khwahish hai

Thor sukun bhi dhudhiye janab ye zarurate to kabhi khatm nai hogi.

Ye na thi hamari qismat ki vusaal-e-yaar hota, agar aur jeete rehte to yahi intezar hota. 

Aank se dur na ho dil se utar jayega, waqt ka kya h guzarta h guzar jayega.

Pakistani Urdu Shayari Top Shayari

इस सफर में नींद ऐसी खो गईं

हम न सोये, रात थक के सो गई

 

आसमाँ इतनी बुलंदी पे जो इतराता है
भूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता है

 

अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ
मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे

 

नहीं निगाह में मंज़िल तो जुस्तजू ही सही

नहीं विसाल मयस्सर तो आरज़ू ही सही

 

दिल में किसी के राह किए जा रहा हूँ मैं
कितना हसीं गुनाह किए जा रहा हूँ मैं

बक रहा हूँ जुनूँ में क्या क्या कुछ
कुछ न समझे ख़ुदा करे कोई

 

Pakistani Urdu Shayari Top Shayari

 

दिल यार की गली में कर आराम रह गया 
पाया जहां फ़क़ीर ने बिसराम रह गया 

किस-किस ने उस के इश्क़ में मारा न दम वले 
सब चल बसे मगर वो दिल-आराम रह गया 

तेरा चेहरा कितना सुहाना लगता है
तेरे आगे चाँद पुराना लगता है

तिरछे तिरछे तीर नज़र के लगते हैं
सीधा सीधा दिल पे निशाना लगता है

आग का क्या है पल दो पल में लगती है
बुझते बुझते एक ज़माना लगता है

पाँव ना बाँधा पंछी का पर बाँधा
आज का बच्चा कितना सियाना लगता है

Pakistani Urdu Shayari Top Shayari

 



सच तो ये है फूल का दिल भी छलनी है
हँसता चेहरा एक बहाना लगता है

सुनने वाले घंटों सुनते रहते हैं
मेरा फ़साना सब का फ़साना लगता है

‘कैफ़’ बता क्या तेरी ग़ज़ल में जादू है
बच्चा बच्चा तेरा दिवाना लगता है

 


जिस काम को जहां में तू आया था ऐ ‘नज़ीर’ 
ख़ाना-ख़राब[1] तुझ से वही काम रह गया 

Pakistani Urdu Shayari Top Shayari

 

Dosti Hoti Nahi Bhul Jane Ke Liye,Dost Milte Nahi Bikhar Jane Ke Liye,Dosti Karke Khush Rahoge Itna,Ki Waqt Milega Nai Aansu Bahane Ke Liye

 

Yun Chalte Chalte Thodi Zindagi Se Toh MilNa Mile Manzil Kinaare Se Toh Mil

 

Waqt Ke Saath Daayra Badh Jata HaiPyar Maa, Patni Aur Bachche Me Bat Jata Hai

 

Mohabbat Jo Janmo Tak Rehti Thi ZindaAb Bus Ek Raat Me Tamaam Hoti Hai

 

Jal Uthi Hai Shama Roshni Se UskiKhatm Hui Hai Tanhaai Mehfil Me UskiMain To Bas Itna Kahunga Ke Meri Jaan Me Basti Hai Jaan Uski

 

Parde Ki Baat Ab Sare-Aam Hoti HaiBandishe Waqt Nahin Subho Shaam Hoti Hain

 

Jise Peene Ka Salika Na ThaUsse Jaam Diya Gaya HaiJise Wafaa Se Fursat Na Mili‘Masroor’ Usse Zeher Diya Gaya Hai

 

Paise Ki Dugdugi Pe Naach Raha HaiAkhir Bandar Ki Aulaad Hai Aadmi

 

Bhoolkar Apna Zamana Ye Bujurgan-E-JadeedAaj Ke Pyar Ko Mayoob Samajhate Honge.

इस वादे का मतलब क्या समझू ,

इकरार भी है , इनकार भी है

 

सोचा भी न था ऐसे लम्हो का सामना होगा,

मंजिल तो सामने होगी पर रास्ता न होगा.

 

मैंने अपनी ख्वाहिशों को दीवार में चुनवा दिया,

ख़ामख़ा जिंदगी में अनारकली बनके नाच रही थी.

 

जान देने की इजाज़त भी नहीं देते हो,
वरना मर जाएँ और मर के मना लें तुम को..!!

 

हमें कोई तुम सा मिल जाये ये मुमकिन सही ,

तुम्हे भी हम सा मिल जाये बड़ा मुश्किल सा लगता है..

 

 

ए शाम तुझपे रात भारी है जिस तरह ,

हमने तो सारी उम्र गुजारी है इस तरह..!!

 

साक़ी तेरी शराब कुछ भी नहीं उस की आँखों के सामने,

वो जो देख ले एक नज़र तो पीने की हसरत नहीं रहती..!!

 

यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम,
पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही लेते है..!

!

कही ये अपनी मोहब्बत की इन्तेहाँ तो नहीं,

बहुत दिनों से तेरी याद नहीं आयी..!!

Isko Kaleje Se,
Maine Jo Laga Rakha Hai,
Dard Ne Paayi,
Mere Seene Mein Rahat Kaisi,



Aadmiyat Ki Shart Hai Eh Daag,
Khub Apna Bura Bhale Samjhe,



Us Se Uthegi Kya Musibat E Ishq,
Ibtiha Ko Jo Ant Jaane

पैसा कमाने के लिये इतना वक़्त खर्च ना करो की,

पैसे खर्च करने के लिये ज़िन्दगी में वक़्त ही ना मिले..!

 

मै तो खुद अपने लिए अजनवी सा बन गया हूँ ,

तू बता मुझसे जुदा हो कर तुझे कैसा लगा..!!

 

हम अपनी रूह तेरे जिस्म में छोड़ आये है,

तुझे गले से लगाना तो एक बहाना था..!!

 

इक रात वो जहाँ गया था बात रोक कर,

अब तक बैठा हूँ वही वो रात रोक कर..!!

 

कोई तरीका बता दो इस बला से बचने का,

मुझे किसी से मुहब्बत हो गयी है..!!

 

दिल तो करता है तेरी तन्हाई खरीद लूँ,

पर अफ़सोस तन्हाई के सिवा कुछ नहीं है

 

यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए,
कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए,
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं,
बस दिलों मे प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए.

 

आपकी चाहत हमारी कहानी है,
ये कहानी इस वक़्त की मेहरबानी है,
हमारी मौत का तो पता नहीं,
पर हमारी ये ज़िंदगानी सिर्फ आपकी दीवानी है

 

अपनी जिंदगी में हमने तेरी जरूरत देखी है,
तेरी आँखों में हमने अपने लिए मोहब्बत देखी है,
जितनी बार खुद को भी नही देखा होगा,
उतनी बार हमने तेरी सूरत देखी है

 

तुझे क्या पता कि मेरे दिल में कितना प्यार है तेरे लिए,
जो कर दूँ बयां तो तुझे नींद से नफरत हो जाए.

 

 

 

सुकून मिलता है जब उनसे बात होती है,
हज़ार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ,
मेरे लिए वही पल पूरी कायनात होती है

 

तुम्हारे साथ खामोश भी रहूँ तो बातें पूरी हो जाती हैं,
तुम में, तुम से, तुम पर ही मेरी दुनिया पूरी हो जाती है

लोग कहते हैं हमे उन्हें भुला रखा है,
वो क्या जाने इस दिल में उनको छिपा रखे हैं,
देख ना ले उन्हें कोई मेरी आँखों में,
इस दर से हमने पलकों को झुका रखा है

The Author

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *