Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me

Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me. Urdu Shayari. Best Top Shayari Pakistan. pakistan aavam shayari.

Tumhaare ehsaas ki khushboo
mere rom-rom mein samaayi hai..
Ab tum hi batao.
Ki iski kaun si dawaayi hai!!

Hoon main tumhaare hi paas mein
Jaraa khyaal karke to dekh lo..
Apni in nigaahon ki bajaay..
Dil kaa istemaal kar ke dekh lo!!

Ishq mein judaayi bhi hoti hai
Ishq mein tanhaayi bhi hoti hai.
Ishq mein bewafaayi bhi hoti hai..
Tu thaam kar to dekh haath mera to pata chalega…

Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me

ये तो तुम्हारे महोब्बत का नतीजा है, वार्ना हम इतनी आसानी से सुधरने वाले नहीं थे


Ki ishq mein sachchayi bhi hoti hai!!

Naa dhan-daulat, naa shauhrat..
Aur naa waah-waah chahiye..
Kaise ho? kahan ho..
Bus in do shabdon ki parwaah chahiye!!

  • र्फ तुमसे ही प्यार करता हूं जान अपनी तुम पर निसार करता हूं मैं तेरे बिना जी नहीं सकता एक पल इसलिए अपनी मोब्बत का आज इजहार करता हूं मैं
  • मोहब्बत है कितनी ज्यादा तुमसे कहो तो ये जहां को बता दूं तु करदे हां एक बार तेरे कदमों में ये आसमां बिछा दूं
  • रब से आप की खुशी मांगते हैं दुआओं में आपकी हंसी मांगते हैं सोचते हैं आपसे क्या मांगे चलो आप से उमर भर की मोहब्बत मांगते हैं 
  • दिल करता है जिंदगी तुझे दे दूं जिंदगी की सारी खुशियां तुझे दे दूं दे दे अगर तू मुझे भरोसा अपने साथ का तो यकीन मान अपनी सांसे भी तुझे दे दूं 
  • शायरी शायरी में इज़हार हो जाये मैं तुम को कहुँ आयी लव यू और तुम्हे मुझसे प्यार हो जाए
  • उन्हें चाहना हमारी कमज़ोरी है उनसे कह नहीं पाना हमारी मजबूरी हैवो क्यों नहीं समझते हमारी ख़ामोशी को क्या प्यार का इज़हार इतना ज़रूरी है

 

Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me

कभी कभी तुम्हे देख लेने से इतना सुकून मिलता है की दिल करता है की सारा दिन बस तुम्हे देखते रहे ..

 

बहुत कमियां निकालते हैं हम दूसरों के अंदर, आईये जरा एक मुलाकात आईने से भी कर लें..

 

 

कभी कभी तुम्हे देख लेने से इतना सुकून मिलता है की दिल करता है की सारा दिन बस तुम्हे देखते रहे…

कागज के नोटों से किस-किस को खरीदोगे, आज भी किस्मत आजमाने के लिए सिक्का उछाला जाता है.

 

Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me

 

आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं, अक्सर वही आप की आँखें खोल जाता है.

 

 

खुशियां तकदीर में होनी चाहिए, तस्वीर में तो हर कोई मुस्कराता है.

 

न कोई सजा न कोई माफ़ी, और हमसे जलने बालो के लिए, हमारी सेल्फी ही है काफी.

 

दिल भी कितना पागल है…हमेशा उसी की फिकर मे डुबा रहता है, जो इसका होता ही नही है..

Pakistani Shayari Hindi Bhasa Me

माना कि तेरी एक आवाज से भीड़ हो जाती है, लेकिन हम भी कुछ कम नहीं, हमारी एक आवाज से पूरी भीड़ बिखर जाती है..

The Author

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *